ये चीन बड़ा कमीन

ये चीन बड़ा कमीन, इसे मारो तमाचे तीन.

 

इसकी नीयत में है खोट, पीठ के पीछे मारे चोट,

काबू में इसके हैं देखो, १३० करोड़ रोबोट,

इसके लोभ के घेरे में, पडोसी देशों की जमीन.

 

इसे चलाते तानाशाह, जहरीली जिनकी निगाह,

इनके जुल्मों के नीचे, चीनी जनता रही कराह,

इनका बस चले तो लेले सबकी आज़ादी छीन.

 

बेचें सबको  सस्ता माल, गुणवत्ता में जो कंगाल,

घटिया दूध, खिलोने, गैजेट, बन गए जी का जंजाल,

इसको जनहित समझाना जैसे भैंस के आगे बीन.

 

चीन दुनिया का एक खतरा, समझो इसका हर पैंतरा,

क्रूरता इसका रोम रोम, धोखा  इसका कतरा कतरा,

भारत ने भी धोखा  खाया, जब इसका किया यकीन.

 

Published in: on दिसम्बर 17, 2010 at 8:27 अपराह्न  टिप्पणी करे  
Tags: ,

कुत्ता पाला, खुजली वाला

करुणानिधि ने कुत्ता पाला, खुजली वाला,

उसको दिल्ली ले के आये, मनमोहन लाला.

कुत्ते ने वो गंद मचाया, किया हर जगह गू,

पूरे भारत में फ़ैल गयी उसकी बदबू.

वहीं बैठा था एक स्वामी ध्यान लगाए,

इस बदबू ने उसके भी नथुने फढ़काए.

उसने मनमोहन को बोला इसे भगाओ,

इससे कहीं प्लेग न फैले देश बचाओ.

मनमोहन तो भैय्या कुर्सी के ऐसे पिस्सू ठहरे,

स्वामी के आगे बन गए जैसे गूंगे-बहरे.

स्वामी तब गुस्से में हो गए दुर्वासा,

मनमोहन की बत्ती गुल, फेंका ऐसा पांसा.

कलमाड़ी-राजा ने देश जैसा लूटा घनघोर,

हर्षद-तेलगी इनके आगे लगे चिंदी-चोर.

भारत चाहे कितनी भी कर ले तरक्की,

जब तक ये कीड़े जिन्दा, ज़लालत पक्की.